भ्रष्टाचार की समस्या पर निबंध

January 22, 2017


किसी भी समाज या देश में भ्रष्टाचार अत्यंत घातक साबित होता है। भ्रष्टाचार की वजह से देश के विकास को रफ्तार नहीं मिल पाता है। जहां पर भ्रष्टाचार पूरी तरह फैला हुआ है वहां पर कानून का राज नहीं चल पाता है। कई सारे बदमाश लोग बड़े-बड़े लोगों को रिश्वत देकर कई सारे अवैधानिक कामों को अंजाम देते हैं, जिसकी वजह से आम जनता को काफी कष्ट झेलना पड़ता है।

भ्रष्टाचार की वजह से लोगों के लिए जो सुविधाएं बननी चाहिए जैसे सड़क, पूल वगैरह वह अच्छी क्वालिटी का नहीं बन पाता है। जिससे आम जनता को काफी परेशानी होती है। भ्रष्टाचार के कारण सरकार द्वारा गरीबों को दी जाने वाली मदद गरीबों तक नहीं पहुंच पाती है, जिससे उन्हें और तकलीफ हो जाती है। भ्रष्टाचार देश को धीरे-धीरे खोखला करता जाता है। जहां पर भ्रष्टाचार व्याप्त है वहां पर ईमानदार लोग आसानी से नौकरी या व्यापार नहीं कर पाते हैं। वहां पर व्यापार फल-फूल नहीं पाता है, जिसकी वजह से इकोनॉमिक डेवलपमेंट नहीं हो पाता है और देश गरीब बना रहता है और देश जब तक गरीब रहेगा, उस देश में रहने वाले ज्यादातर लोग कष्ट में जीएगें। अगर भ्रष्टाचार काफी फैला रहेगा तो लोगों को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पाएगी, अच्छा स्वास्थ सुविधाएं नहीं मिल पाएगा।

भ्रष्टाचार के कारण कई सारे मुजरिम कैद में नहीं रहते हैं और वह लोग आजादी से देश में घूमते हैं और लोगों को कष्ट पहुंचाते हैं। भ्रष्टाचार के कारण लोगों को ज्यादातर सिस्टम से विश्वास उठ जाता है, लोग मेहनत की वजह शॉर्टकट ढूंढने लगते है। भ्रष्टाचार की मार सबसे ज्यादा गरीब लोगों पर पड़ती है, वे लोग अपने मूल अधिकार से भी वंचित हो जाते है। अगर देश को तरक्की की राह में अच्छी तरह से आगे बढ़ाना है तो भ्रष्टाचार को जड़ से पूरी तरह समाप्त करना पड़ेगा।

श्रेणि: हिन्दी निबंध (Essay in Hindi)

Comments (11)

  1. राहुल राजपूत says:

    बहुत अच्छा

  2. Anonymous says:

    Nice

  3. Bhavya Sharma says:

    Very nice

  4. Vaibhav says:

    Nice very niceee

  5. Nikita says:

    It is very super thankyou for the essay very helpfull for me

  6. Alia gandhi says:

    Thanks

  7. Deven says:

    Nice

  8. Deven says:

    Very good essay

  9. Lokesh menaria says:

    Nice

कमेंट लिखें

Back to Top