हल्दी के औषधीय गुण

April 2, 2015


हल्दी एक जड़ी बूटी है। हल्दी में कई पोषक तत्व जैसे विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, प्रोटीन, फाइबर, पोटेशियम, कैल्शियम, तांबा, आयरन, मैग्नीशियम और जिंक पाया जाता है। हल्दी में एंटीऑक्सिडेंट, एंटीवायरल, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होता है। हल्दी हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसका प्रयोग कई बीमारियों के उपचार में किया जाता है।

हल्दी के फायदे –

  • हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होता है। इसका इस्तेमाल एक प्रभावी कीटाणुनाशक के रूप में किया जा सकता है। हल्दी का प्रयोग कटने, जलने या घाव को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  • हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण प्रोस्टेट कैंसर को रोकने और कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में मदद करता है।
  • हल्दी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होता है जो जोड़ों के दर्द या गठिया के इलाज में सहायक होता है।
  • हल्दी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।
  • हल्दी मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करता है।
  • हल्दी अल्जाइमर रोग को रोकने और इसके प्रगति को धीमा करने में सहायक होता है।
  • हल्दी में मौजूद फाइबर पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। इसका प्रयोग अपच, पेट दर्द, दस्त और पेट में गैस होने पर किया जाता है।
  • हल्दी में एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण होता है जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में मदद करता है। मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली होने से जुकाम, फ्लू और खांसी होने की संभावना कम होती है।
  • हल्दी का प्रयोग सिर दर्द, ब्रोंकाइटिस, जुकाम, फेफड़ों में संक्रमण, कुष्ठ रोग, बुखार और मासिक धर्म समस्याओं के लिए भी किया जाता है।
  • हल्दी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण दिल का दौरा पड़ने से रोकता है।
  • हल्दी का प्रयोग त्वचा संबंधी समस्या, लीवर संबंधी समस्या और किडनी संबंधी समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है।

श्रेणि: स्वास्थ्य (Health)

कमेंट लिखें

Back to Top