कमर दर्द का घरेलू उपचार

August 3, 2016


कमर दर्द एक आम समस्या है। कमर दर्द सिर्फ मध्यम आयु वर्ग और बुजुर्ग लोगों को ही नहीं बल्कि युवा भी इससे पीड़ित है। कमर दर्द कई कारणों जैसे मांसपेशियों में तनाव, शारीरिक गतिविधि, गठिया, गर्भावस्था, अत्यधिक शारीरिक श्रम, गलत तरीके से उठने-बैठेने और सोने, ऊँची एड़ी के जूते पहनने, भारी वजन उठाने, मोटापा और धूम्रपान से हो सकता है। कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप घरेलू नुस्खे का प्रयोग कर सकते है।

कमर दर्द का घरेलू उपाय –

  • चार चम्मच सरसों का तेल, तिल का तेल या नारियल के तेल में 7-10 लहसुन की कलियां डालकर कम आंच पर लहसुन के भूरे रंग होने तक गर्म करें। फिर तेल के ठंडा होने पर इस तेल से कमर की मालिश करें।
  • अरंडी के तेल को गर्म कर लें। फिर इस तेल से कमर की मालिश करें। इससे कमर दर्द से राहत मिलता है।
  • एक प्लास्टिक की थैली में कुछ आइस क्यूब्स कुचलकर डाल लें और उसे एक तौलिया में लपेटकर 10 से 15 मिनट के लिए अपने कमर पर रखें। इससे सेक करने से कमर दर्द से आराम मिलता है।
  • गर्म पानी में सेंधा नमक डालकर पेस्ट बना लें। इसमें एक तौलिया डालकर निचोड़ लें और इस तौलिया को अपने प्रभावित क्षेत्र पर रखें। गर्म पानी में सेंधा नमक डालकर नहाने से भी कमर दर्द से राहत मिलता है।
  • एक कप पानी में 8 से 10 तुलसी के पत्तों को डालकर तब तक उबालें, जब तक पानी आधा न हो जाए। फिर ठंडा होने पर इसमें थोड़ा सा नमक मिलाकर दिन में 2 से 3 बार पीयें।
  • खसखस और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। उसके बाद इस मिश्रण के दो चम्मच दिन में दो बार खाएं और फिर एक गिलास दूध पीएं।
  • एक नींबू का रस निकालें। फिर इसमें थोड़ा सा नमक डालकर अच्छी तरह मिलाएं और इसे पी लें। इससे कमर दर्द से राहत मिलती है।
  • हर्बल तेल से कमर की मालिश करने से मांसपेशियों को आराम मिलता है और दर्द को दूर करने में मदद करता है। नीलगिरी का तेल, बादाम का तेल, जैतून का तेल या नारियल का तेल इसमें से किसी भी हर्बल तेल का उपयोग कर सकते हैं। तेल को गर्म करें और प्रभावित क्षेत्र पर मालिश करें।
  • ताजा अदरक के 4 से 6 पतले स्लाइस को एक से डेढ़ कप पानी में डालकर 10 से 15 मिनट तक कम आंच पर उबालें। फिर ठंडा होने पर शहद मिलाकर दिन में दो या तीन बार पीएं। इससे कमर दर्द से आराम मिलता है।
  • दूध कैल्शियम का एक अच्छा स्त्रोत है। यह हड्डियों को मजबूत और ऑस्टियोपोरोसिस और कमर दर्द के जोखिम को कम करता है। नियमित रूप से दूध का सेवन करें। एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर पीयें।

श्रेणि: स्वास्थ्य (Health)

कमेंट लिखें

Back to Top