गर्भावस्था के दौरान सावधानियां

गर्भधारण करते ही महिलाए अपने होने वाले बच्चे के विकास को लेकर बहुत चिंतित हो जाती है। हर महिला चाहती है कि वे एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दे। गर्भधारण के बाद महिलाओं को नौ महीने की इस लम्बी अवधि में बहुत सारी बातों पर ध्यान देने की जरूरत है। गर्भवती महिला को गर्भ में पल रहे शिशु को कोई खतरा या नुकसान ना हो इसके लिए उन्हें कई सावधानियां बरतनी चाहिए।

गर्भावस्था के दौरान सावधानियां –

  • जैसे ही आपको पता चले कि आप गर्भवती है, उसके बाद से ही आप डॉक्टर के संपर्क में रहें और हर 15 दिनों में अपना जाँच करवाती रहें।
  • गर्भावस्था के शुरूआती महीनों में folic acid की गोलियों का सेवन करे।
  • डॉक्टर की सलाह पर गर्भावस्था के आवश्यक टीके लगवाये और आयरन, कैल्शियम की गोलियों का सेवन करे।
  • गर्भधारण के समय ब्लड ग्रुप, हीमोग्लोबिन, थाइराइड, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और एचआईवी आदि की जाँच करवानी चाहिए।
  • गर्भावस्था के दौरान यदि सिर दर्द, पेट दर्द, कमर दर्द, सर्दी-जुकाम या बुखार हो तो बिना डॉक्टर की सलाह के कोई दवा न ले।
  • गर्भावस्था के दौरान गर्भस्थ शिशु की हलचल पर ध्यान देती रहे।
  • गर्भावस्था में ऊची एड़ी के सैंडल न पहने।
  • गर्भावस्था के प्रारंभिक तीन महीने, आठवें और नौवे महीने के दौरान सफ़र न  करें।
  • गर्भावस्था में भूखा नही रहना चाहिए।
  • चाय और कॉफ़ी नही पीना चाहिए।
  • गर्भधारण और प्रसव के बीच आप के वजन मे कम से कम 10 कि.ग्रा. की वृद्धि अवश्य होनी चाहिए।

Leave a Reply