अनियमित माहवारी के लिए घरेलू उपचार

महिलाओं में अनियमित माहवारी या मासिक धर्म का समय पर न होना एक आम समस्या है। मासिक धर्म का सामान्य चक्र 21 से 35 दिनों तक का होता है। माहवारी रक्तस्राव आम तौर पर दो से सात दिन तक रहता है। अनियमित मासिक धर्म चक्र के कई कारण जैसे एनीमिया, थायराइड रोग, हार्मोनल असंतुलन, वजन का बढ़ना या घटना, मधुमेह, गर्भावस्था या स्तनपान, गर्भपात या प्रसव, तनाव, धूम्रपान, शराब पीने, कुछ दवाओं और गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से हो सकता है। अनियमित मासिक धर्म का इलाज करने के लिए आप घरेलू नुस्खे का उपयोग कर सकते है।

अनियमित मासिक धर्म के घरेलू उपाय –

  • तिल मासिक धर्म चक्र को नियमित करने और हार्मोन संतुलन करने में मदद करता है। एक मुट्ठी तिल को सूखाकर भून लें और इसमें एक चम्मच गुड़ मिलाकर पीस लें। उसके बाद मासिक धर्म शुरू होने के दो सप्ताह पहले से प्रतिंदिन खाली पेट इस मिश्रण का एक चम्मच सेवन करें। मासिक धर्म के दौरान इस उपाय का प्रयोग न करें।
  • कच्चा पपीता अनियमित माहवारी के इलाज के लिए एक अच्छा और आसान घरेलू उपचार में से एक है। कुछ महीनों के लिए नियमित रूप से कच्चा पपीता का रस पीयें या कच्चा पपीता खा भी सकते है। माहवारी के दौरान इस उपाय का प्रयोग न करें।
  • हल्दी एक जड़ी बूटी है, जो मासिक धर्म को नियमित करने और हार्मोन संतुलन में सहायक माना जाता है। इसके अलावा इसमें मौजूद anti-inflammatory और antispasmodic गुण मासिक धर्म में दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। एक चौथाई चम्मच हल्दी को दूध, शहद या गुड़ के साथ मिलाएं और कुछ हफ़्तों तक प्रतिदिन इस मिश्रण का सेवन करें।
  • एक गिलास पानी में दो चम्मच सौंफ के बीज को डालकर रातभर के लिए छोड़ दें। उसके बाद सुबह में इसे छानकर नियमित रूप से पीयें।
  • अदरक मासिक धर्म चक्र को नियमित करने और पीरियड में दर्द से राहत दिलाने में बेहद फायदेमंद है। एक चम्मच ताजा अदरक एक कप पानी में 5 मिनट तक उबाल लें और फिर इसमें थोड़ा सा चीनी मिलाएं। इस मिश्रण को खाना खाने के बाद दिन में तीन बार पीएं।
  • कच्ची गाजर या गाजर का रस अनियमित माहवारी के इलाज के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है। एक गिलास गाजर का रस नियमित रूप से तीन महीने तक पीयें।
  • सूखा पुदीना और शहद का मिश्रण अनियमित माहवारी के लिए एक अच्छा आयुर्वेदिक उपाय के रूप में काम करता है। यह मासिक धर्म ऐंठन को कम करने में भी मदद करता है। सूखे पुदीना पाउडर में एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन बार कई हफ्तों तक सेवन करें।
  • एक चम्मच धनिया के बीज को दो कप पानी में तब तक उबालें, जब तक पानी की मात्रा आधी न हो जाए। उसके बाद इसे छानकर दिन में कम से कम तीन बार पीयें।
  • दालचीनी मासिक धर्म चक्र को नियमित करने और मासिक धर्म ऐंठन को कम करने में मदद करता है। एक गिलास दूध में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर प्रतिदिन सेवन करें।
  • ताजा एलोवेरा जेल में एक चम्मच शहद मिलायें और नाश्ता करने से पहले इस मिश्रण का सेवन करें। अच्छे परिणाम के लिए इस उपाय का प्रयोग कम से कम तीन महीने तक करें। मासिक धर्म के दौरान इस उपाय का प्रयोग न करें।

Leave a Reply