नीम के औषधीय गुण

नीम के पेड़ के विभिन्न भागों को आयुर्वेदिक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं। नीम हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता हैं। नीम के पेड़ के सभी भागों जैसे पत्ते, फूल, बीज, फल, जड़ और छाल सूजन, संक्रमण, बुखार, त्वचा रोग और दंत चिकित्सा विकारों के इलाज के लिए पारंपरिक रूप से इस्तेमाल किया जाता हैं।

नीम के स्वास्थ्य लाभ –

  • नीम की पत्ती और हल्दी का लेप सभी प्रकार के चर्म रोग जैसे दाद, एक्जिमा और खुजली का इलाज करने में मदद करता हैं। 
  • नीम के बीज और पत्ते मलेरिया के उपचार के लिए सहायक होता हैं।
  • नीम में पाया जाने वाला एंटीसेप्टिक गुण मसूड़े की सूजन, मसूड़ों से खून बहना और pyorrhea जैसे दंत रोगों के उपचार के लिए काफी फायदेमंद होता हैं।
  • नीम में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण सरवाइकल कैंसर से बचाता हैं।
  • नीम में पाया जाने वाला बैक्टेरियारोधी गुण त्वचा रोग, घाव, और त्वचा अल्सर के इलाज के लिए काफी असरदार होता हैं।
  • नीम के छाल का प्रयोग पेट और आंतों में अल्सर, त्वचा रोग, दर्द और बुखार में किया जाता हैं।
  • नीम का तेल और बीज  कुष्ठ रोग और पेट के कीड़े के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है।
  • नीम के फूल और फल का प्रयोग पित्त को कम करने, कफ, बवासीर, मूत्र विकार, नाक से खून बहना, नेत्र रोग, घाव, कुष्ठ रोग और पेट के कीड़े के इलाज के लिए किया जाता हैं।
  • नीम की पत्ती का प्रयोग प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए, रक्त को शुद्ध करने के लिए और पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए किया जाता हैं।
  • नीम ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करता हैं जो मधुमेह के रोगियों के लिए काफी सहायक होता हैं।

Leave a Reply