सौंफ के फायदे

सौंफ का प्रयोग माउथ फ्रेशनर, टूथपेस्ट, शर्बत, मिठाई और विभिन्न व्यंजनों में किया जाता है। इसमें कई औषधीय गुण पाया जाता है। सौंफ में सोडियम, कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज, आयरन, फोलेट, विटामिन सी, फाइबर जैसे कई पोषक तत्व होते है। सौंफ का उपयोग पेट संबंधी समस्याओं, सांस की बीमारियों, मासिक धर्म संबंधी विकार, डायरिया, अस्थमा, एनीमिया, कफ, खाँसी और अन्य बीमारियों के उपचार में किया जाता है।

सौंफ के लाभ –

  • सौंफ अपच, पेट और आंतों की सूजन, कब्ज, पेट का दर्द, पेट में गैस जैसे पाचन समस्याओं के निवारण में बेहद फायदेमंद है। खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ के बीज को चबाने से पेट में दर्द और सूजन से राहत मिलती है।
  • सौंफ पोटेशियम का एक अच्छा स्रोत है जो उच्च रक्तचाप, दिल का दौरा या स्ट्रोक का खतरा कम करने में मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन सी हृदय रोग से बचाता है।
  • सौंफ फाइबर का एक बड़ा स्रोत है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।
  • सौंफ में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण कैंसर के विकसित होने का खतरा कम कर सकते हैं।
  • सौंफ में फाइबर होता है जो वजन कम करने में मदद करता है। सौंफ के बीज को भुनकर पीस लें। इस चूर्ण का आधा चम्मच दिन में दो बार गर्म पानी के साथ सेवन करें।
  • सौंफ श्वसन तंत्र में संक्रमण, खांसी, जुकाम और फ्लू से राहत देने में मदद करते हैं। खांसी और गले में खराश होने पर गर्म सौंफ की चाय दिन में दो या तीन बार पीयें।
  • सौंफ में आयरन होता है जो एनीमिया के उपचार में मदद करता है।
  • सौंफ एक माउथ फ्रेशनर के तरह काम करता है। खाना खाने के बाद सौंफ के बीज को चबाने से मुँह की दुर्गंध दूर हो जाती है।
  • सौंफ़ एक सामान्य मस्तिष्क बूस्टर के रूप में काम करता है। इसमें पोटेशियम पाया जाता है, जिससे दिमाग की शक्ति बढ़ जाती है।
  • सौंफ नेत्र सम्बंधी समस्या और त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है।
  • सौंफ मासिक धर्म संबंधी समस्याओं को दूर करता है। यह दर्दनाक मासिक धर्म के लक्षणों को कम करने में मदद करता है।

Leave a Reply