काली मिर्च के औषधीय गुण

May 24, 2015


काली मिर्च का प्रयोग मसाले के रूप में किया जाता है। इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक दवा में भी बड़े पैमाने पर किया जाता है। इसमें मैंगनीज, जस्ता, क्रोमियम, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फाइबर, विटामिन ए, विटामिन सी और कई अन्य पोषक तत्व होते हैं। इसका प्रयोग सांस की बीमारियों, खांसी, जुकाम, कब्ज, अपच, एनीमिया, मांसपेशियों में खिंचाव, दंत रोग, डायरिया और दिल की बीमारी के उपचार में किया जाता है।

काली मिर्च के फायदे –

  • काली मिर्च पाचन प्रक्रिया को बढ़ाने में मदद करता है,जिससे पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड का स्राव बढ़ जाता है। पाचन में सुधार होने से पेट का दर्द, सूजन, अपच, पेट फूलना, कब्ज और पेट में गैस जैसे समस्याओं से राहत मिलती है।
  • काली मिर्च पाचनशक्ति बढ़ाने के साथ-साथ भूख बढ़ाने में भी मदद करता है। आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर औए एक बड़ा चम्मच गुड़ के मिश्रण को नियमित सेवन करने से भूख बढ़ती है।
  • काली मिर्च में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण कैंसर, हृदय रोग और लिवर की समस्याओं को रोकने में मदद करता है।
  • काली मिर्च में मौजूद पिपेरीन गठिया और जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद करता है।
  • काली मिर्च दांत और मसूढ़े की समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। दांत दर्द को कम करने के लिए लौंग के तेल में एक चुटकी काली मिर्च पाउडर मिलाकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  • काली मिर्च में मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण सर्दी, खाँसी और जुकाम को दूर करने में मदद करता है। यह कफ ढीला करने में भी मदद करता है। श्वसन प्रणाली खाली करने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर मिलाकर दिन में दो या तीन बार पीयें।
  • यह त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है।
  • काली मिर्च में पाया जाने वाला एंटी बैक्टीरियल गुण कीड़े के काटने और संक्रमण के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है।
  • काली मिर्च पेट में गैस बनने से रोकने में मदद करता है। एक कप पानी में आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर, आधा चम्मच काला नमक और आधा नींबू के रस को मिलाकर पीने से पेट में गैस से राहत मिलती है।
  • काली मिर्च तनाव को कम करने, चिंता और उदासी को दूर करने में भी मदद करता है।

श्रेणि: स्वास्थ्य (Health)

कमेंट लिखें

Back to Top