पुस्तकालय पर निबंध



विद्यार्थियों के लिए पुस्तकालय काफी महत्वपूर्ण जगह है। पुस्तकालय में जरूरत के मुताबिक तरह-तरह की किताबें रखी रहती हैं। यही वह जगह है जहां पर छात्र-छात्राएं शांति से किसी भी विषय पर कई तरह की किताबें पढ़ सकते हैं। लगभग सभी स्कूलों में पुस्तकालय जरूर होता है। पुस्तकालय की वजह से ही बच्चे कई तरह के महंगे किताब भी मुफ्त में पढ़ सकते हैं। अगर पुस्तकालय ना होता तो बच्चों को किताब खरीदना पड़ता जो कि काफी महंगा पड़ता।

इंटरनेट के जमाने में आजकल ज्यादातर इंफॉर्मेशन इंटरनेट से प्राप्त हो जाता है और इंटरनेट के ज्यादा इस्तेमाल की वजह से पुस्तकालय का महत्व अब पहले की तुलना में कम हो गया है। पहले के जमाने में इंटरनेट नहीं था तो उस समय छात्रों को अगर कुछ नई चीजों के बारे में जानना होता तो पुस्तकालय उस समय बड़ा ही काम में आता था।

पुस्तकालय सिर्फ स्कूल या कॉलेज में ही नहीं होता है, पुस्तकालय शहरों या गांव के बीच में भी होता है। जिसमें कई सारे निवासी पुस्तकालय जाकर अलग-अलग तरह की किताबें पढ़ते हैं और अपना समय व्यतीत करते हैं। लेकिन आजकल लोग कुछ भी जानने के लिए इंटरनेट का ज्यादा सहारा ले रहे हैं।

कई सारे पुस्तकालयों में पुस्तक को निकाल कर घर ले जाने की भी सुविधा होती है। इस सुविधा से कई बच्चों को काफी ज्यादा फायदा होता है। वह घर ले जाकर आराम से पुस्तक को अच्छी तरह पढ़ सकते हैं और नोट बना सकते हैं।

पुस्तकालय में कई तरह के नई पुरानी किताबें मिल जाती है। शोध कर रहे छात्रों के लिए पुस्तकालय तो एक वरदान की तरह ही होता है। यहां पर छोटे से लेकर बड़े इंफॉर्मेशन मिल जाते हैं। पुस्तकालय गरीब बच्चों के लिए काफी फायदेमंद होता है क्योंकि उन्हें कुछ समझने के लिए नए किताब खरीदने की जरूरत नहीं पड़ती है। वह सीधा पुस्तकालय जाते हैं, वहां जरूरत की चीज पढ़ते है और नोट करके अपना काम चला लेते हैं।

पुस्तकालय में कई तरह के मैगजीन भी रखें जाते हैं। लोग कम पैसे खर्च कर या लगभग मुफ्त में इन मैगजीन को भी पुस्तकालय में पढ़ सकते हैं। आजकल पुस्तकालय में कई तरह के कंप्यूटर भी लगे रहते हैं जहां पर सॉफ्ट फॉर्म में कई सारे डाक्यूमेंट्स उस कंप्यूटर में पढ़ सकते हैं। आजकल पुस्तकालय में एजुकेशनल सीडी भी रहती हैं।

पुस्तकालय में समय कैसे बीत जाता है पता ही नहीं चलता है।

(word count: 400)

Leave a Reply

Your email address will not be published.