भारत में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की कमाई

कई लोगों को लगता है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर भारत में बहुत ज्यादा पैसे कमाते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है ज्यादातर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बहुत ज्यादा पैसे नहीं कमाते हैं। भारत में काम करने वाले आधे से ज्यादा सॉफ्टवेयर इंजीनियर सालाना 700000 रु से कम कमाते हैं। साधारण कॉलेज से पास हुए इंजीनियर जब सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनते हैं तो ज्यादातर इंजीनियर की मासिक वेतन 30,000 से लेकर 45,000 रु तक होती है।

कई सारे प्राइवेट कंपनियों में सॉफ्टवेयर इंजीनियरों की सैलरी उनके काम करने की क्षमता के अनुरूप साल दर साल बढ़ती रहती है। जो लोग काफी सक्षम होते हैं उनकी सैलरी काफी बढ़ जाती है और जो लोग ज्यादा नहीं सीख पाते हैं उनको कम सैलरी में ही संतुष्टि करनी पड़ती है। कई सारे इंजीनियरों को तो नौकरी से भी निकाल दिया जाता है।

काफी अच्छे कॉलेज से निकलने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर और बहुत ज्यादा अनुभवी इंजीनियर की सैलरी काफी ज्यादा हो सकती है। उनकी सैलरी 25 से 30 लाख तक सालाना हो सकती है। जब सॉफ्टवेयर इंजीनियर मैनेजमेंट की पोस्ट पर जाता है तो उसकी कमाई और बढ़ जाती है।

अभी सॉफ्टवेयर इंजीनियर की कमाई लगभग वही है जो 10 साल पहले हुआ करता था। अगर इन्फ्लेशन को ध्यान में रखा जाए तो यह पाया जाता है कि सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सैलरी समय के साथ-साथ कम होती जा रही है। इसका कारण यह है कि अब कई सारे स्टूडेंट इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते हैं और मार्केट में जरूरत से ज्यादा इंजीनियर उपलब्ध है।

3 Comments

Leave a Reply