खुजली के कारण और घरेलू उपचार

June 19, 2016


खुजली एक त्वचा की बीमारी है। खुजली भी कई तरह की होती है, ज्यादातर खुजली संक्रामक नहीं होती है। खुजली होने का सही-सही कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। खुजली बहुत कुछ आदमी के रहन-सहन पर निर्भर करता है। प्रतिदिन नहाने और सफाई से रहने पर खुजली होने का संभावना कम हो जाता है। अगर साफ-सुथरा रहने के बाद भी खुजली हो रहा है तो इसका मतलब कहीं ना कहीं उसके अंदर कुछ ना कुछ कमियां हैं, जो खुजली के रूप में प्रकट होती है। खुजली एक तरह का एलर्जी का रिएक्शन है। बहुत सारे लोगों को किसी न किसी चीज से एलर्जी होती है और वह चीज कौन सा है यह ज्यादातर लोगों को पता नहीं रहता है, जब वह आदमी उस चीज के संपर्क में आता है तो शरीर उसका रिएक्शन खुजली या फिर किसी अन्य तरह के लक्षण में प्रकट होता है। खुजली खून की खराबी के कारण भी हो सकता है।

खुजली का घरेलू उपाय –

खुजली से बचने का सबसे सही तरीका यह है कि

  • सबसे पहले तो अपने शरीर को हमेशा साफ-सुथरा रखना चाहिए और उसे सुखा नहीं रखना चाहिए, अच्छे किस्म का तेल शरीर में जरूर लगाकर रखना चाहिए।
  • कपड़े भी हमेशा साफ-सुथरे पहनने चाहिए और पोलिस्टर कपडे का बिल्कुल प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • खानपान का भी अच्छे से ध्यान देना चाहिए, ज्यादा तेल, मसाला या फिर बाहर का खाना नहीं खाना चाहिए।
  • शराब, धूम्रपान के सेवन से बचना चाहिए।
  • शरीर की अंदरूनी ताकत बढ़ाने के लिए योगा जरूर करना चाहिए, इससे एलर्जी का रिएक्शन कम होता है।
  • नारियल के तेल में थोड़ा सा कपूर मिलाकर खुजली वाले जगह पर लगाने से खुजली से राहत मिलता है।
  • अगर खुजली नहीं छूट रहा हो तो डॉक्टर से मिलकर अच्छी दवा लेनी चाहिए और उसका तब तक इस्तेमाल करना चाहिए, जब तक खुजली पूरी तरह छूट नहीं जाए।
  • जिसे खुजली हो रहा हो उसे उसका पता होना चाहिए कि उसे किस चीज से एलर्जी हो सकती है और उसे उस चीज से दूर रहना चाहिए।
  • कई बार किसी खास किस्म के साबुन का इस्तेमाल करने से भी खुजली हो सकती है।

खुजली के मल्हम का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि ज्यादा मल्हम लगाने से त्वचा झुलसकर काली पड़ सकती है।

श्रेणि: स्वास्थ्य (Health)

कमेंट लिखें

Back to Top