ए.पी.जे. अब्दुल कलाम पर निबंध

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम अवुल पकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम है और उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुआ था। वह भारत के ग्यारहवें राष्ट्रपति थे और वह 2002 से 2007 तक इस पद पर कार्यरत रहें। उनका जन्म एक गरीब परिवार में हुआ था और वह बचपन से ही पढ़ाई में काफी कुशल थे। उन्होंने पहले फिजिक्स की पढ़ाई की और फिर एयरोस्पेस इंजीनियरिंग किया।

अब्दुल कलाम ने अपने 40 साल के करियर में काफी मेहनत से काम किया। उन्होंने डीआरडीओ और इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो) में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उन्होंने भारत की सैन्य क्षमता बढ़ाने के लिए मिसाइल के डेवलपमेंट में बहुत ज्यादा योगदान दिया। उन्हें मिसाइल मैन के नाम से भी जाना जाता हैं। वह 1998 में भारत में न्यूक्लियर टेस्ट सफलतापूर्वक कराने में काफी सहयोग दिए।

अब्दुल कलाम 2002 तक काफी लोकप्रिय हो चुके थे और उनकी लोकप्रियता इतनी बढ़ गई कि वे 2002 में भारत के राष्ट्रपति के रूप में चुने गए। वह भारत के 11वें राष्ट्रपति थे और इस पद पर 2007 तक रहे। राष्ट्रपति के रूप में उन्होंने भारत में बहुत ज्यादा सहयोग दिया। वह एक लोकप्रिय राष्ट्रपति के रूप में जाने जाते हैं। बच्चे से लेकर बूढ़े तक सभी लोग उनसे काफी प्रेरणा लेते हैं।

27 जुलाई 2015 में 83 साल की उम्र में उनका निधन इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट शिलोंग में लेक्चर देते समय हो गया। वे एक सच्चे देशभक्त के रूप में हमेशा याद किए जाएंगे। अब्दुल कलाम इतने बड़े पद पर रहने के बाद भी जीवन बिल्कुल सादगी में व्यतीत करते थे।

(word count: 250)

21 Comments

  1. manya

    bht acha hai………………………………

  2. George

    I missed him very much by reading this lines

  3. Kashish basista gujjar

    I love this it help me in my ASL exam thnk u.

  4. Manaswinee rath

    It helped me in completing my homework as I learned it also came in in my exams because of this I got 50 make out of 50 😀😀😀😀😀😀

  5. Radhika

    I like this essay very much and thank you for this essay

  6. Aditya Gupta f. Nnnn

    A.. P. J. Abdul Kalam hamare dilo me hamesh jinda raven ge. I missed than

Leave a Reply